PM किसान स्कीम में मोदी सरकार ने लिया ये फैसला, 45 लाख किसानों को पहुंचेगा फायदा

बिजनेस डेस्क। पीएम किसान स्कीम में किसानों को खास तौर पर फायदा देने के लिए केंद्र सरकार ने एक फैसला लिया है। इसके तहत अब पीएम किसान सम्मान निधि स्कीम से किसान क्रेडिट कार्ड को जोड़ा जाएगा और उन्हें सस्ता लोन दिया जाएगा। केंद्रीय कृषि मंत्रालय के अधिकारियों के मुताबिक, 45 लाख किसानों को क्रेडिट कार्ड दिए जाने की सैद्धांतिक मंजूरी मिल चुकी है, जबकि 25 लाख किसानों को किसान क्रेडिट कार्ड जारी कर दिया गया है। 

70 लाख किसानों ने दिया आवेदन
पीएम किसान सम्मान निधि स्कीम से किसान क्रेडिट कार्ड को जोड़े जाने के बाद करीब 70 लाख किसानों ने सस्ता लोन लेने के लिए आवेदन दिया था। पीएम किसान सम्मान निधि स्कीम के सीईओ विवेक अग्रवाल का कहना है कि जल्दी ही 45 लाख किसान को कार्ड जारी कर दिया जाएगा। 
7 करोड़ किसानों के पास क्रेडिट कार्ड
फिलहाल, देश भर में 7 करोड़ किसानों के पास ही किसान क्रेडिट कार्ड हैं, जबकि देश में 14.5 करोड़ किसान परिवार हैं। सरकार चाहती है कि ज्यादा से ज्यादा किसानों को इस योजना का लाभ मिल सके, ताकि वे साहूकारों से कर्ज नहीं लें। उनकी जगह किसान सरकार से कर्ज लें, जिसमें उन्हें कई तरह की सुविधा मिलेगी। 
कम ब्याज पर लोन
सरकार किसानों को बहुत ही कम ब्याज पर कर्ज देती है। साहूकार किसानों को बहुत ही ज्यादा ब्याज पर कर्ज देते हैं, जिसके चंगुल में फंस जाने के बाद किसान फिर उससे निकल नहीं पाते हैं। सरकार किसानों को खेती के लिए सिर्फ 4 फीसदी ब्याज पर लोन देती है। ज्यादा से ज्यादा किसानों को इसका लाभ मिल सके, इसके लिए सरकार ने किसान सम्मान निधि के तहत उन्हें  किसान क्रेडिट कार्ड जारी करने का फैसला लिया है
बैंकों को जारी करना होगा कार्ड
इस योजना के तहत बैंको को किसान क्रेडिट कार्ड जारी करना होगा। वे इसमें टाल-मटोल का रवैया नहीं अपना सकते हैं। किसान सम्मान निधि के तहत सरकार के पास किसानों के आधार कार्ड नंबर, बैक अकाउंट नंबर और उनकी जमीन का पूरा रिकॉर्ड है। इसी के आधार पर आवेदन करने पर उन्हें क्रेडिट कार्ड जारी किया जाएगा।
रिजर्व बैंक ने की घोषणा
रिजर्व बैंक ने घोषणा की है कि किसान क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल अपने घरेलू खर्चों को पूरा करने के लिए भी कर सकते हैं। किसान अपने घरेलू खर्च के लिए कर्ज की राशि का 10 प्रतिशत तक इस्तेमाल कर सकते हैं। यह योजना कोरोना वायरस महामारी और लॉकडाउन में किसानों को राहत देने के लिए शुरू की गई है।
 कैसे बनवाएं किसान क्रेडिट कार्ड
इसके लिए सबसे पहले वेबसाइट https://pmkisan.gov.in/ पर जाना होगा। यहां फार्मर टैब की दाईं ओर डाउनलोड केसीसी फॉर्म का ऑप्शन मिलेगा। इसे डाउनलोड कर प्रिंट करवा लें और भर कर करीब के कमर्शियल बैंक में जमा कर दें। कार्ड तैयार हो जाने के बाद बैंक किसानों को इसके बारे में सूचित करेगा या फिर कार्ड किसान के पते पर भेज दिया जाएगा। 

बंद क्रेडिट कार्ड को करवा सकते शुरू
इस फॉर्म का इस्तेमाल नया क्रेडिट कार्ड बनवावे के साथ ही मौजूदा कार्ड की लिमिट बढ़ाने और बंद पड़े क्रेडिट कार्ड को फिर से शुरू करवाने के लिए भी किया जा सकता है। 

बेहद आसान है फॉर्म भरना
आम तौर पर किसानों को फॉर्म भरने में कई तरह की परेशानी होती है, लेकिन इस फॉर्म को भरना बेहद आसान है। इसमें किसान को पहले बैंक का नाम और ब्रांच की जानकारी देनी होगी। नया कार्ड बनवाने के लिए इश्यू ऑफ फ्रेश केकेसी पर टिक करना होगा। बाकी सारी जरूरी जानकारी (KYC) बैंक पीएम किसान खाते से मिलान कर हासिल कर लेंगे। इसलिए नए सिरे के  KYC कराना जरूरी नहीं है। 
देना होगा डिक्लेरेशन
फॉर्म में गांव का नाम, सर्वे/खसरा संख्या, जमीन का ब्योरा,बोई जाने वाली फसल के बारे में जानकारी के साथ एक डिक्लेरेशन भी देना होगा कि किसी दूसरे बैंक या शाखा से कोई और किसान क्रेडिट कार्ड तो नहीं बनवा रखा है। किसान क्रेडिट कार्ड पर बिना किसी सिक्योरिटी के 1.60 लाख रुपए तक का लोन 4 फीसदी ब्याज पर लिया जा सकता है। समय पर कर्ज का भुगतान करने पर लोन की राशि को 3 लाख रुपए तक बढ़ाया जा सकता है। 
Reactions

Post a comment

0 Comments